Dragon Fruit: गुजरात सरकार ने ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलकर किया ‘कमलम’

Dragon Fruit
Processed with VSCO with n1 preset

Dragon Fruit– जेसा के आपको पता ही होगा हमारे देश भारत में कई प्रकार के फलो का सेवन किया जाता है. बहोत से फल तो भारत में ही उगाये जाते है, जबकि कुछ फल दुसरे देशो से भी मंगाए जाते है. ऐसे में हम आपको आज Dragon Fruit के बारे में बताने जा रहे है. हॉल ही में गुजरात के मुख्या मंत्री ने कहा है की अब Dragon Fruit का नाम बदलकर कमलम रखने का फेसला किया गया है. इसे पिताया के नाम से भी जाना जाता है.

Dragon Fruit
Chowhound

आपको बता दे के Dragon Fruit भारत का फल नहीं है. इसके अलावा विजय रूपाणि ने कहा Dragon नाम सुनने में अच्छा नहीं लगता. और हमारे यह के लोग इसे चीन से जोड़ते है. इसलिए इसका नाम बदलने का फेसला किया है. कमलम का मतलब है कमल. Dragon Fruit का रंग गुलाबी होता है और यह विदेशी फल देखने में काफी सुंदर होता है. और स्वाद में मीठा होता है. हेल्थ के लिए बहोत अच्छा होता है. इसी के साथ इसमें कई सरे पोसक तत्व होते है. हमारी भारतीय बाजार में इसकी 500 से 600 रूपए प्रति किलो ग्राम होती है.

Dragon Fruit
Times Now

मंगलवार को मुक्यमंत्री ने कहा राज्य सरकार ने Dragon Fruit का नाम बदलने का फेसला किया है. क्युकी इस फल का बाहरी आकर कमल की तरह है. इसलिए Dragon Fruit का नाम अब कमलम रखा जायेगा. हमने चीन के साथ जुड़े Dragon Fruit का नाम बदल दिया है. इसमें कुछ भी राजनितिक नहीं है.

Dragon Fruit
Wikipedia

क्या आपको पता है Dragon Fruit के फायदे?

 

Dragon Fruit– इम्युनिटी बूस्ट विटामिन-C भरपूर मात्रा में होती है. जो की आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है. जिससे की सरीर को कई तरह की बीमारियों से बच्चाने में मदद करती है.
इसमें आयरन और फाइबर होता है जो आपको स्वस्थ बनाये रखता है.
कोलेस्ट्रोल के लिए अच्छा होता है. इसे डाइट में सामिल करने से दिल को स्वस्थ बनाये रखने में मदद मिलती है.
ब्लड सुगर के लिए अच्छा होता है. Dragon Fruit में फाइबर की हाई मात्रा होने के कारण ब्लड सुगर को नियंतार्ण करने में मदद मिलती है.
केंसर से बचाव Dragon Fruit में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से होने वाले केंसर सेल्स के उत्पादन को रोकने में मदद कर सकते है.

आइये आपको बताते है Dragon Fruit के नुक्सान.

Dragon Fruit में सुगर की मात्रा अधिक पाई जाती है. जिसके कारण इसका इस्तेमाल जरुरत से जायदा नहीं करना चाहिये.
Dragon Fruit खाते समय कभी भी भूल से इस फल के बाहरी छिलके को नहीं खाना चाहिए. इसमें कित्नासक पाए जाते है. जो की आपको नुक्सान पंहुचा सकते है.
आपको बता दे के कुछ लोगो का तो यह भी मानना है के Dragon Fruit खाने से दस्त की समस्या भी होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here