पाकिस्तान और चीन सीमा पर युद्ध से निपटने के लिए इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स का किया गया गठन

Formation of Integrated Battle Groups to combat the war on Pakistan and China border
Image Source: MyNation

पड़ोसी मुल्क की और से पाकिस्तान सिमा के पास दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे खतरों को देखते हुए, भारत की सेना की और से एक ऐसी सेना का गठन किया जा है। जो पकिस्तान और चीन से युद्ध की स्थिति में सीमा पर त्वरित कार्रवाई और मजबूत जवाब देने के लिए शक्षम हो। आपको बता दे की भारतीय सेना इस नए घातक बैटल फॉर्मेशन को अक्टूबर तक बनाने की तैयारी कर रही है। इस सेना को भारतीय सेना ने इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (आईबीजी) नाम दिया है। इस सेना के ग्रुप को इस साल के अक्टूबर तक पाक्सितान और चीन की सीमा पर तैनात कर दिया जायेगा।

सेना के विशिष्ट सूत्रों के मुताबिक, ‘हमने पूर्वी कमांड के अंतर्गत इस खास युद्धक रणनीति इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) का अभ्यास किया है। युद्धक फॉर्मेशन टीम और टॉप कमांडरों ने इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स के अभ्यास को लेकर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है और इस सेना के ग्रुप को बेहतरीन बताया है। इस वजह से हम इस साल के अंत यानी अक्तूबर तक पाकिस्तानी सीमा के पास ऐसे दो से तीन इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

Image Source: Hindustan Times

भारतीय सेना की और से जानकारी दी गई है की इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स के अभ्यास और उसके फीडबैक को लेकर पिछले हफ्ते विस्तार से चर्चा हुई थी। आर्मी हेडक्वार्टर में हुई इस चर्चा में 7 आर्मी कमांडर शामिल हुए थे। कमांडर्स-इन-चीफ को आईबीजी को यह आदेश दिए गए है की, अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स का निर्माण कराएं। पहले तीन इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्सपूर्वी कमांड की फॉर्मेशन की तर्ज पर बनाए जाएंगे।

इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (Integrated Battle Groups) के भारतीय सेना में शामिल होने के बाद से सेना की शक्ति और बढ़ेगी और साथ ही सेना पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हो जाएगी। आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप्स सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की उस खास रणनीति का हिस्सा है। जिसमे सेना प्रमुख बिपिन रावत भारतीय सेना को पहले से ज्यादा ताकतवर और प्रभावशाली बनाना चाहते है। ऐसे कदमो से न केवल भारतीय सेना मजूबत होगी बल्कि इस से देश की सुरक्षा में भी वृद्धि होगी। सेना की और से उठाये गए इस कदम की बहुत सरहाना की जा रही है। देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे साथ बने रह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here