हाइवे के बीच में आया मस्जिद, बिना तोड़े निकाला गया अनोखा हल

Image Source: Masjid Pictures

असम में एक बहुत पुरानी मस्जिद मौजूद है, लोगों के बिच इस मस्जिद की बहुत मान्यता है। असम में एक हाइवे का निर्माण होना था लेकिन, मस्जिद हाइवे के बिच में आ रहा था। इसके चलते इंजीनियरों ने एक हल निकाला, मस्जिद को एक जगह से दूसरी जगह पर स्थापित कर दिया जाए। बिन मस्जिद को हानी पहुँचाये। श्रमिकों की मदद से इस 100 साल वर्ष पुरानी और दो मंजिला इस ऐतिहासिक मस्जिद को अलग-अलग हिस्से में लेजाया जाए। इसके बाद दीवारों को कई हिस्सों में बाट दिया गया और नौगांव के पुरानीगुडम में स्थापित किया जा रहा है। इस मस्जिद को स्थापित करने वाले एक इंजीनियर गुरदीप सिंह ने मीडिया को बताया की ‘एनएच 37 में स्थित इस मस्जिद को सुरक्षित रूप से नौगांव से पुरानीगुडम में स्थापित किया जा रहा है। ऐसा इस लिए किया जा रहा है, क्योंकि NH 37 को फोरलेन हाईवे में बदलाव किए जा रह है।उन्होंने बताया की मस्जिद को दूसरी जगह स्थापित करने में तकरीबन 15 से 20 दिनों तक का समय लगेंगा।

इंजीनियर गुरदीप सिंह ने बताया की मस्जिद को बिना कुछ नुक्सान पहुँचाए बिना, हाइड्रोलिक सिस्टम की सहयता से मस्जिद को एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थापित किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट की ज़िम्मेदारी हरयाणा में स्थित एक कंपनी को सौंपी गई है। इस प्रोजेक्ट में में करीब 100 लोग काम कर रह है। जो कि पूरी सुरक्षा व्यवस्थाओं को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। इस पुरे प्रोजेक्ट को दो चरणों में पूरा किया जाएग। अभी तक मस्जिद का 50 % प्रतिशत काम पूरा कर लिए गया है। NH 37 को फोरलेन हाईवे को बनाने में बहुत दिक्क्त आ रही थी। जिसके बाद प्रशासन से अनुमति ली गई, और मस्जिद को एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू की गई।

मस्जिद को स्थापित करने में कहा मुश्किल आई ?

मस्जिद को स्थापित करने से पहले मुस्लिम समुदाय से भी इसके बारे बात की गई थी, जिससे मुस्लिम समुदाय की आस्था को ठेस ना पहुंचे। मुस्लिम समुदाय की सहमति के बाद इसे एक से दूसरी जगह शिफ्ट करने का काम शुरू किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here