अमेज़न-वॉलमार्ट जैसी बड़ कंपनी को मुकेश अंबानी देंगे टक्कर, जानिए अंबानी का प्लान

Image Source: Cyber learning services

JIO की शुरुआत भारत में 2016 में की गई, जिसमे लोगो को फ्री डेटा फ्री कॉल आदि सुविधा प्रधान कराई थी। जिओ के आने से टेलीकॉम क्षेत्र तहलका मच गया था, आज जिओ  भारतीय बाजार में अपनी अच्छी पकड़ बना ली है। अब मुकेश अंबानी का इरादा है की ई-कॉमर्स क्षेत्र पर अपना  किया जाए। आप सभी इस बात से वाकिफ है की आज अमेज़न विश्व की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट है जहां समान का लेन देन किया जाता है। इसी के चलते मुकेश अंबानी ने मन बना लिया है की टक्क्र दी जाये, जिसके लिए विशेष रणनीति बनाई जा रही है। मुकेश अंबानी ने  सालो में तकरीबन 26 छोटी कम्पनियो में अपनी हिस्से दारी खरीद कर अपनी रणनीति पर अमल करना शुरू कर दिया है।

यह सब करने की उन्हें यह प्रेरणा अमेजन के मालिक जेफ बेजोस से मिली है, दरसल   जेफ बेजोस ने अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए, 10-15 सालो में 75 छोटी कंपनी में निवेश किया है, जिसके चलते आज अमेजन आज विश्व की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बनी है। जिसके पास आज विश्व में बहुत बड़ी मात्रा में ग्राहक मौजूद है। मुकेश अंबानी ने इन दो सालो में 26 छोटी कंपनियों में 17.41 हजार करोड़ का निवेश है। ब्लूमबर्ग इंटेलीजेंस के विश्लेषक कुणाल अग्रवाल का कहना है कि आपको सुनने में यह रकम बहुत कम लग रही हो लेकिन यह सब छोटी कंपनी मिलकर एक बड़ी कंपनी का निर्माण कर सकती है। ऐसी कंपनी बहुत प्रभाव शाली साबित होगी। यह सभी मिलाकर एक ऐसा मंच बना सकती है झा उत्पादन करना आसान होगा।  रेटिंग एजेंसी मॉर्गन स्टेनली के अनुसार, वर्ष 2028 तक भारत का ई-कॉमर्स बाजार करीब सात गुना बढ़कर 14 लाख करोड़ का हो जाएगा। भारत में आने वाले समय में ई-कॉमर्स कारोबार बहुत कमाई करेगा। भारत में इस समय ई-कॉमर्स का बाजार अभी 30 अरब डॉलर का है, जो आने वाले समय में  200 अरब डॉलर का हो जाएगा।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here