श्रीलंका में मुस्लिम डॉक्टर पर 4 हज़ार बौद्ध महिलाओं की नसबंदी का आरोप, जाने पूरा मामला

Image Source: News18 Hindi

श्रीलंका अखबार में एक खबर छपने के बाद से देश में बौद्ध और मुस्लिमों के बीच तनाव की स्थिति उत्तपन हो गई है। अखबार में छपी खबर के मुताबिक एक मुस्लिम डॉक्टर ने महिलाओं में गुप्त रूप से ऑपरेशन करके बच्चे जमने की क्षमता को समाप्त कर दिया। अखबार में बताया गया है कि तकरीबन 4000 महिलाओं की नसबंदी करी जा चुकी हैं। लेकिन आपको बता दें कि इस अखबार में छपी खबर में डॉक्टर का नाम उजागर नहीं किया गया है। लेकिन सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर प्रतिबंधित आतंकी संगठन नेशनल तोहिद जमात का सदस्य भी रह चुका है। यह वही संगठन है जिस पर ईस्टर के मौके पर होटल में बम धमाके कराने का आरोप लगा था। लेकिन अभी इस बात की अभी पूरी तरह से है पुष्टि नहीं हो सकी है। इसलिए इस पर यकीन नहीं करें तो बेहतर होगा।

Image Source: Aaj Tak

इस मामले के सामने आने के बाद से अखबार में इस संपादक को छापने वाले एडिटर पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं, की इस जानकारी का कैसे मालूम पड़ा। इसके बाद अखबार के एडिटर बताया की यह खबर उन्होंने पुलिस और अस्पताल के सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी आधार पर प्रकाशित किया है। इस खबर के सामने आने के बाद श्रीलंका में हिंसा भड़कने का डर उत्पन्न हो गया है। इस खबर के प्रकाशित होने के 2 दिन बाद पुलिस ने सेगु शिहाबुद्दीन शफी नामक एक डॉक्टर को हिरासत में लिया है। पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि उस डॉक्टर पर संदिग्ध पैसो से संपत्ति खरीदने का आरोप है। श्रीलंका पुलिस अखबार में किए गए दावे की जांच पड़ताल कर रही है। साथ ही पुलिस ने अपील की है कि जो भी महिला इस नसबंदी घटना का शिकार हुई है। वह सामने आए और पुलिस जांच में सहायता करें।

अखबार में छपी रिपोर्ट के बाद एक पति पत्नी का जोड़ा सामने आया है, उनका कहना है कि करीब 11 साल पहले उसने ऑपरेशन के जरिए एक बच्चे को जन्म दिया था, जिसके बाद से 6 साल बीत चुके हैं। लेकिन दोबारा कोई संतान नहीं हुई है। अब दोनों पति पत्नी इस बात को लेकर काफी चिंता में है। देश दुनिया की ताजा खबरों के लिए हमारे साथ बने रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here