Nirbhaya Case: निर्भया को मिला न्याय, इस दिन दी जाएगी फांसी ?

2012 Delhi gangrape case,Nirbhaya gangrape case,Delhi gangrape case, Nirbhaya Case: Justice given to Nirbhaya, will be hanged this day?, निर्भया रेप कांड

2012 Delhi gangrape case,Nirbhaya gangrape case,Delhi gangrape case, Nirbhaya Case: Justice given to Nirbhaya, will be hanged this day?, निर्भया रेप कांड

Nirbhaya Case: सात साल पहले पुरे भारत को दहलाने वाली खबर सामने आई थी, निर्भया सामूहिक दुष्कर्म इस घटना पुरे भारत को निचोड़ कर रख दिया था। जब से लेकर अभी तक सभी दोषियों की फांसी की मांग की जा रही थी, लोग लम्बे समय से निर्भया के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने वालो अपराधियों की फांसी का इंतज़ार कर रहे थे, जो अब समाप्त होने जा रहा है, जी है पुरे सात साल निर्भया को न्याय मिलेगा। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के दोषियों को फांसी पर लटकाने का दिन और वक्त साथ ही डेथ वारंट भी जारी कर दिया है।

बता दे की निर्भया रेप कांड के चारों दोषियों को 22 जनवरी 2020 को फांसी की सजा दी जाएगी। लोगो को इस फैसले का बड़े बेसब्री से इंतज़ार था। लेकिन एक सत्य यह भी है की दोषियों को सजा दिलाने में और निर्भया इंसाफ दिलाने में काफी लम्बा समय लग गया। बता दे की इस पुरे मामले पर मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की गई और चारो दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई। जैसे ही फैसला सुनाया गया उसी दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में फुट-फुट कर रोने लगी। मीडिया को निर्भया की मां आशा देवी बोलती है की इस फैसले के आने के बाद भारत की जनता को न्याय व्यवस्था पर भरोसा बढ़ेगा। साथ ही मेरा सात साल का आंसू भरा इंतजार भी खत्म हुआ।

इस फैसले के आने के बाद पुरे भारत में एक अलग खुसी देखि गई, कुछ लड़कियों ने मीडिया को कहा की अब हम खुस है और साथ हमे सरकार पर पहले से ज्यादा भरोसा हो गया है। उन्होंने कहा कि 4 दोषियों की सजा देश की महिलाओं को सशक्त बनाएगी। वही दूसरी और निर्भया के पिता बदरीनाथ सिंह ने भी कोर्ट के फैसले पर खुशी जताई है। बदरीनाथ सिंह बोलते है की मैं कोर्ट के फैसले पर बहुत खुस हूँ साथ ही मेरी बेटी को इंसाफ मिल गया है।

चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा, अब यह देखना होगा की इस फैसले के बाद रेप के मामलो में क्या ? कमी देखने को मिलेगी ?

जानिए डेथ वॉरंट के बाद क्यों मिला 14 दिन का समय?

पवन गुप्ता, मुकेश सिंह, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर मामले में दोषी पाए गए हैं। दोषियों के वकीलों ने कहा है कि वे सुप्रीम कोर्ट में एक क्यूरेटिव याचिका दायर करेंगे. सभी दोषी राष्ट्रपति के पास दया याचिका भी दायर कर सकते हैं. दरअसल, कानून के मुताबिक डेथ वारंट के बाद भी दया याचिका दायर की जा सकती है। कानूनी रूप से इसके लिए 14 दिनों का समय मिलना चाहिए, इसलिए इन्हें ये समय मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here