Sukma Naxal Attack | कमांडो को छोड़ने के लिए नक्सलियों ने रखी शर्ते.

Sukma Naxal Attack: माओवादियों ने लापता कोबरा कमांडो के अपने कब्जे में होने का दावा किया.

Sukma Naxal Attack
The Financial Express

Sukma Naxal Attack– सनिवार को बीजापुर के सुकमा छेत्र में सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ की जिम्मेदारी लेते हुए, नक्सलियों ने लापता कोबरा कमांडो के अपने कब्जे में होने का दावा किया है. नक्सलवादियो ने एक ब्यान जारी कर अपने चार साथियों के मारे जाने की पुष्टि की है.

बयान में कहा गया है कि सरकार मध्यस्थ नियुक्त करे, तभी जवान को रिहा किया जाएगा. छतीसगढ़ में नक्सलवादियो ने कहा के सनिवार को सुकमा और बीजापुर के सीमावर्ती छेत्र में मुठभेड़ के बाद से लापता एक जवान उनके कब्जे में है. नक्सलवादियो ने बयान जारी कर कहा के रिहाई के लिए सरकार से मध्यस्थ नियुक्त करने की मांग की है. जेसा की आपको बता दे के सनिवार को सुकमा बीजापुर सीमा पर सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बिच हुई मुठभेड़ में 22 जवान सहीद हो गए है. और इस मामले में 31 जवान घायल हो गए थे.

Sukma Naxal Attack
Kalinga TV

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हमले पर शोक व्यक्त किया और हर संभव सहायता की पेशकश की. नक्सलवादी ने एक बयान में कहा की एक जवान को उन्होंने बंदी बनाया है. उन्होंने कहा के सरकार पहले मध्यस्थों के नाम की घोषणा करे. इसके बाद बंदी जवान को शोप दिया जाएगा. तब तक वह जनताना सरकार की सुरक्षा में रहेगा. जेसा के आपको बता दे सीआरपीएफ की 210 कोबरा बटालियन के जवान राकेश्वर सिंह मनहास लापता हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

बीजापुर के एक पत्रकार को नक्सलियों ने फोन कर इस बात की जानकारी दी है. की बीजापुर मुठभेड़ के बाद अगवा किए गए जवान राकेश्वर सिंह मनहास को नक्सली दो दिनों में रिहा कर सकते हैं. पत्रकार गणेश मिश्रा ने बताया मुझे नक्सलियों की तरफ से दो बार फ़ोन आया की एक जवान उनकी हिरासत में है. उन्होंने कहा के जवानो को गोली लगी है, और उनका इलाज़ किया जा रहा है. उसे दो दिन में रिहा कर दिया जायेगा. अगवा जवान की रिहाई के लिए पुलिस चारो तरफ पर्यास कर रहीं है.

अभी जवान की लोकेसन का पता नहीं चला है. पर जल्द हि उन्हें रिहा करा लिया जायेगा. राज्य में इस बड़े नक्सली हमले के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को छत्तीसगढ़ का दौरा किया था. इस दौरान शाह ने बस्तर में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी तथा जवानों से मुलाकात की. उन्होंने रायपुर के अस्पतालों में भर्ती घायल जवानों से भी मुलाकात की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here