Tractor Rally in Delhi: किसानों को मिली ट्रैक्टर रैली की अनुमति

गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद ही ट्रैक्टर पर निकल सकेंगे किसान. Tractor Rally in Delhi

Tractor Rally in Delhi
The Indian Express

Tractor Rally in Delhi– दिल्ली पुलिस ने आखिरकार प्रदर्सन करी किसानो को टेक्टर रेली की अनुमति दे दी है. 26 जनवरी को होने वाली इस रेली के लिए पुलिस समेत रिजर्व फोर्सेज को भी शोर्ट नोटिस पर मूव के लिए तेयार रहने को कहा गया है. दिल्ली पुलिस ने इसमें गड़बड़ी फेलाने की बड़ी साजिस का खुलासा किया है. दिल्ली पुलिसके अनुसार गड़बड़ी फेलाने की साजिस पकिस्तान की तरफ से हो रही है.

टेक्टर परेड में सम्मिल होने के लिए रविवार को जिले के कई ब्लोको से भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसान टेक्टर ट्राली लेकर रवाना हुए है. वही पुलिस प्रसासनिक अधिकारी भाकियू व् अन्य किसान संगठनो के पदाधिकारियों को दिल्ली न जाने के लिए फ़ोन करके निवेदन कर रहे है. जिले के कई गावो में बैठक भी आयोजित हुई है. उन्होंने दावा किया है के रविवार को 80 टेक्टर ट्राली लेकर किसान अलग-अलग रास्तो से गाजीपुर बॉर्डर के लिए रवाना हुए है.

किसानो की लम्बी कोशिस के बाद अकिर पुलिस ने कई सर्तो के साथ रास्टीय पर्व गणतंत्र दिवस पर टेक्टर ट्राली परेड निकालने के इजाजत दी है. 26 जनवरी को राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड ख़त्म होने के बाद किसान दिल्ली के तय रूटों पर ही परेड निकल सकेंगे. सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर ही परेड निकालने की इजाजत दी है.

रविवार को पद्दोसी राज्यों से हजारो टेक्टर दिल्ली की तरफ बढ़ते देखे गए. पंजाब, हरियाणा, उत्तर परदेश, और राजस्थान जेसे राज्यों से किसान टेक्टर लेकर दिल्ली पहुच रहे है. कुछ किसानो ने तीन ट्राली और कुछ किसानो ने पांच ट्राली एक साथ जोड़ राखी है.ताकि इरधन बचाया जा सके. दीपेंदर पाठक ने कहा के परेड के रूट को लेकर 5 से 6 बार किसानो के साथ बैठक हुई. उसके बाद तीन रूटों पर परेड की इजाजत दी गयी है.

Tractor Rally in Delhi
The Tribune India

परेड के दोरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तेनाती रहेगी. ताकि शांति व्यवस्था बनी रहे. इससे पहले कमिश्नर ने किसानो को टेक्टर मार्च देने की अनुमति की जानकरी देते हुए कहा गणतंत्र दिवस पर टेक्टर रेली निकालने की मांग का सम्मान करते हुए दिल्ली के तीन जगह से जो की सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से बेरीकेट को हटाकर दिल्ली के अन्दर में रोड पर कुछ किलोमीटर तक अन्दर आने की सहमती हुई है.

पाठक ने कहा 13 जनवरी से 18 जनवरी के बिच सोशल मीडिया एनालिसिस से पता चलता है के टेक्टर रेली को डिस्टरब करने के लिए भ्रम पैदा करने के लिए 308 ट्विटर हेंडल पकिस्तान से जनरेट हुए है. वह इस पर लगातार काम कर रहे है. देश के कई जगहों से इनपुट्स है के रेली के वक्त गड़बड़ी और कानून व्यवस्था को लेकर चुनोतिया पैदा की जाने की साजिस है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here