109 घण्टे बाद फतेहवीर सिंह को बोरवेल से निकाला गया, डॉक्टरों ने मौत की पुष्टि करी

Image Source: Latestly.com

पंजाब के संगरूर में 125 फीट गैलरी बोरवेल में 3 साल के बच्चे फत्तेवीर सिंह को 5 दिनों बाद बाहर निकाल लिया गया है। लेकिन दुखद बात यह रही की फतेह वीर सिंह ने बचाव राहत ऑपरेशन के दौरान दम तोड़ दिया। बच्चे को सुबह करीब 5:12 पर बोरवेल से निकाला गया था। जिसके बाद बच्चे को चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में ले जाया गया। लेकिन डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद 10:00 बजे बच्चे की पोस्टमार्टम किया गया। जैसे ही बच्चे की मौत की खबर लोगों को मिली तो लोगों ने घटनास्थल पर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, और सरकार के विरोध नारेबाजी करने लगे। आपकी जानकारी के लिए बता दीजिए फतेह सिंह पंजाब के भगवानापुर गांव में अपने घर के पास एक सूखे पड़े बोरवेल में गुरुवार की शाम गिर गया था। बताया जा रहा है कि फतेह सिंह अपने मां-बाप की इकलौती संतान था।

Image Source: सत्याग्रह

बचाव दल के एक कर्मचारी ने बताया की रविवार को फतेह सिंह के करीब बचाव दल पहुंच गया था। लेकिन तकनीकी समस्याओं के कारण बच्चे को निकाला नहीं जा सका। अधिकारियों ने बताया कि बच्चे को भोजन तो नहीं दिया गया था, लेकिन पर्याप्त ऑक्सीजन मोहिया कराई गई। बचाव दल के साथ पुलिस, स्थानी नागरिक, स्थानीय प्रशासन और कई अन्य लोग बच्चे को बोरवेल से निकालने के लिए जुड़े थे। यह सभी लोग चिलचिलाती गर्मी की परवाह करे बिना बचाव अभियान में जुड़े रहें। इस घटना की जानकारी लोगों में फैलती बहुत बड़ी संख्या में लोग घटनास्थल पर इकट्ठे हो गए थे, और बच्चे की सलामती के लिए दुआ प्रार्थना करने लगे थे। इस घटना ने फिर एक बार 2006 में गिरे बच्चे प्रिंस की यादे ताजा कर दी थी। प्रिंस को तकरीबन 48 घंटों में बोरवेल से बाहर निकाल लिया गया था। लेकिन फतेह सिंह के मामले में बोरवेल से निकालने में 5 दिनों का लंबा समय लगा। लेकिन फिर भी बच्चे की जान नहीं बचाई जा सकी।

डॉक्टरों ने बताया बच्चे के बोरवेल में अधिक समय तक रहने के कारण बच्चे का शरीर गल चुका था। इसी कारण बच्चे की मृत्यु 2 दिन पहले ही हो चुकी थी। इस पूरे मामले पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अरविंदर सिंह ने दुख व्यक्त किया। इस हादसे के बाद अरविंदर सिंह ने पंजाब के सभी बोरवेल के जांच कराने के आदेश दे दिए जिससे आने वाले समय में ऐसी और कोई दुर्घटना ना ओए देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए हमारे साथ बनी रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here