बेंगलुरु के एयर शो के दोरान हुई बड़ी दुर्घटना, 2 पायलट जख्मी।

surya kiran
बेंगलुरु  में एक यह फूल ड्रेस रिहसल का आखरी दिन था , यह एयर शो 24 फरवरी तक चले गा। और आज दूसरी बार फूल ड्रेस रिहसल किया जा रहा था। 2013 में आखरी बार कहा गया था ,की अब सूर्य किरण सेना का हिस्सा नहीं रहगा। लेकिन 2015 में एक बार फिर इस बात की मांग उठी थी की वर्ल्ड की सबसे बेस्ट एयरो बेटिक टीम है।सूर्य किरण भारतीय सेना का हिस्सा है। उससे वापस शामिल करना चाइये। इसके बाद 2015  में हिस्सा नहीं लिए थे पर 2017 में डरा हिस्सा लिया। और अपग्रेड वर्शन के साथ। बताया जा रहा है की टेकऑफ के तुरंत बाद जब बिलकुल नजदीक से दोनों विमानों को गुजरना था।
उस वक्त कुछ कनिकेशन गैप की वजह से दोनों फ्लाइट टकरा गई। दोनों विमान के पाइलेटों ने उसी समय एमेरजेन्सी पैरासूट का इस्तमाल करते हुए अपनी जान बचा ली। और अब दोनों सुरक्षित बताये जा रह है। मोजुदा जानकारी यह सामने आया है की यह विमान रिहाइशों इलाके से दूर गिरा है जिससे नुकसान कम हुआ है , एयरबेस के आस पास ही यह दोनों विमान गिरे है। इस एयर शो में 100 से ज्यादा कंपनी भाग ले रही है। अमेरिका और फ्रांस की कंपनी भी शामिल सबसे बड़ी बात इसमें रफल भी शामिल होगा। यह एयर शो हर साल  होता और सफलता पूर्वक भी होता है ,पर इस साल कुछ कमनिकेशन गलती की वजह से यह दुर्घटना हुई। सूर्यकिरण विमान ने अब तक 450 से ज्यादा शो में भाग लिया है।
surya kiran aero
 सूर्यकिरण एयरफोर्स की एयरोबेटिक्स टीम का हिस्सा है , जिसे सेना में उपयोग किया जता रहा है। वैसे इसका खास इस्तमाल  सेना में प्रशिक्षण की लिए किया जाता रहा है। इस विमान की रफ़्तार 450 से 500 किलोमीटर तक की है,इसका गठन  कर्णाटक में किया गया था। इस विमान ने देश विदेश में बहुत करतब दिखाए है। कई बार करतब दिखाते हुए ऐसे हात्से हो जाते है। ऐसी एक दुर्घटना 2006 में भी हुई थी जिसमे एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस घटना में दो विमान चालक घायल हो गए थे। एयर फोर्स के जाने माने  ब्रांड एम्बेसडर बन चुके  सूर्य किरण टीम में सिर्फ 13 पायलट होते हैं। इनके चयन के मापदंड बहुत कठिन हैं। सिर्फ लड़ाकू फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलट ही इसमें लिए जाते हैं। प्रत्येक पायलट को कम से कम 2000 घंटों की उड़ान का अनुभव होना अनिवार्य होता है। साथ ही 1000 घंटे तक सूर्यकिरण विमान उड़ाने का अनुभव भी होना चाहिए। सभी पायलट विमान प्रशिक्षक होने चाहिए। इस टीम में उनकी नियुक्ति तीन साल के लिए होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here