Chandrayaan-2: विक्रम लैंडर अपने तय स्थान से करीब 500 मीटर दूर गिरने के बावजूद कर रहा है काम

इसरो के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर में वह टेक्नोलॉजी है कि वह गिरने के बाद भी खुद को खड़ा कर सकता है, लेकिन उसके लिए जरूरी है कि उसके कम्युनिकेशन सिस्टम से संपर्क हो जाए और उसे कमांड रिसीव हो सके
Image Source: Firstpost

Chandrayaan-2: विक्रम लैंडर अपने तय स्थान से करीब 500 मीटर दूर गिरने के बावजूद भी इसरो अपने मिशन ने नाराज नही हुआ है, उसको मिशन से अभी भी बहुत उम्मीद जुड़ी हुई है। आपको जानकर अच्छा लगेगा कि, अगर उससे एक बार संपर्क बन जाए तो वे फिर अपने पैरों पर खड़ा हो सकता है। हमको फिलहाल ही पता चला है कि चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर में एक ऐसी भी टेक्नोलॉजी है कि वे गिरने के बाद भी अपने आप को खड़ा करने के साथ-साथ अपने आप पर काबू भी पा सकता है। लेकिन अभी विक्रम लैंडर को कोई भी कमांड रिसीव नही हो पा रही है। हालांकि आपको बता देते है कि, इस मिशन को पूरा होने के सिर्फ और सिर्फ 1 प्रतिशत चांस बताए जा रहे है। इसके दौरान इसरो वैज्ञानिकों का कहना है कि 1 प्रतिशत ही सही लेकिन उमीद अभी भी अपने रास्ते पर टिकी हुई है।

बता देते है कि विक्रम लैंडर में एक सिस्टम है जिसका नाम ऑनबोर्ड कंप्यूटर बताया जा रहा है, साथ ही ये भी बताया जा रहा है कि ये खुद भी स्पेस में कई काम कर सकता है। लेकिन इसरो के लिए सबसे धुकद करने वाली बात थी कि विक्रम लैंडर के गिरने से वे एंटीना दब गया है, जिसके जरिए कम्युनिकेशन सिस्टम को कमांड भेजी जा सकती थी। लेकिन उसके बावजूद भी इसरो वैज्ञानिक लगातार इसी प्रयास में लगे हुए है कि विक्रम लैंडर को वापस अपने पैरों पर कैसे खड़ा किया जाए।

इसरो प्रमुख के. सिवन ने रविवार को कहा था कि, इसरो लगातार विक्रम से अपना कम्युनिकेशन बनाने के लिए कोशिश कर रही है। बताया जा रहा है कि संपर्क जल्द ही स्थापित हो जाएगा। वैज्ञानिकों के मुताबिक बताया जा रहा कि उनके पास विक्रम को वापस लाने के लिए सिर्फ और सिर्फ 11 दिन बचे है। क्योंकि बताया जा रहा है अभी लूनर डे चल रहा है। अब आप सोच रहे होंगे कि वो होता क्या है। एक लूनर डे धरती पर 14 से 15 दिन के बराबर माना जाता है। इसके मुतानिक उनके पास पूरे 11 दिन का संपर्क है विक्रम से जुड़ने के लिए। आशा है कि जल्द ही इसरो के वैज्ञानिक विक्रम के साथ कनेक्ट हो पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here