Citibank | भारत से सिमेटने जा रहा है अपना कारोबार.

Citibank: जानिये क्या होगा खाताधारको और करमचारियो का?

Citibank
Telegraph India

Citibank अमेरिकी बेंक, सिटी बेंक लम्बे समय से भारत में काम कर रहा अब अचानक भारत से अपना काम सिमेटने की तयारी में लग गया है. सिटी बेंक भारत सहित 13 देशो से अपना कंजूमर बिजनेस बंद करने की तयारी में है. भारत सहित 13 देश है, भारत, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, चीन, इंडोनेशिया, दक्षिण कोरिया, मलेशिया, फिलीपींस, पोलैंड, रूस, ताइवान, थाईलैंड और वियतनाम में अपने कंज्यूमर बिजनेस से एग्जिट कर जाएगा.

Citibank ने गुरूवार को कहा के वह भारत में अपना कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस बंद करने जा रहा है. बैंक के कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में क्रेडिट कार्ड्स, रीटेल बैंकिंग, होम लोन और वेल्थ मैनेजमेंट शामिल है। सिटीबैंक की देश में 35 शाखाएं हैं और उसके कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस में करीब 4,000 लोग काम करते हैं. सिटी इंडिया के सीईओ आशु खुल्लर ने कहा के हमारे ओप्रेसन में तत्काल कोई बदलाव नहीं आया है.

Citibank
Quartz

और इस घोषणा से हमारे साथियों पर तत्काल कोई असर भी नहीं होगा. हम अपने ग्राहकों की सेवा में कोई भी कसर नहीं रखेंगे. उन्होंने आगे कहा के, इस घोषणा से बेंक की सेवाए और मजबूत होंगी. संस्थागत बेंकिंग कारोबार के अलावा सिटी अपने मुंबई, पुणे, बेंगलुरू, चेन्नई और गुरुग्राम केंद्रों से ग्लोबल कारोबार पर ध्यान देता रहेगा. सिटीबैंक ने 1902 में भारत में कदम रखा था और 1985 में बैंक ने कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस शुरू किया था. सिटी को वित्त वर्ष 2019-20 में 4,912 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 4,185 करोड़ रुपये था.

सिटीबैंक ने 1902 में भारत में प्रवेश किया था और 1985 में बैंक ने कंज्यूमर बैंकिंग बिजनस शुरू किया था. सिटीबैंक के अधिकारियों का कहना है कि अब होलसेल बिजनेस पर फोकस किया जाएगा और इसमें निवेश बढ़ाया जायेगा. बता दें कि भारत में सिटीबैंक के करीब 29 लाख रिटेल कस्टमर्स है. Citibank अब भारत में अपने रिटेल बिजनेस का खरीदीर तलाशेगी और इसके लिए जरूरी रेगुलेटरी परमिशन लेगी. अधिकारियों ने कहा कि Citibank भारत में अपने होलसेल बिजनेस पर फोकस करेगी और इसमें और अधिक निवेश करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here