Cyclone Tauktae | गोवा के तट से टकराया, गुजरात की ओर बढ़ा टाक्टे.

Cyclone Tauktae: Cyclone Tauktae LIVE Tracking

Cyclone Tauktae
The Week

Cyclone Tauktae– अरब सागर में बने दबाव के छेत्र बनाने की वजह से भारत पर एक बार फिर से चक्रवाती तूफ़ान का खतरा मंडरा रहा है. चकार्वती तूफ़ान तोकते मंगलवार साम को तेज हो गया. और गुजरात के तट और केंद्र शासित परदेश दमन और दीव, दादरा और नगर हवेली की ओर बढ़ गया है. मौसम विभाग में मुताबिक़ यह गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा. आशंका जताई जा रही है कि महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के तटों पर तीन दिनों तक इस चक्रवाती तूफान का असर देखने को मिल सकता है.

अगले 12 घंटों के दौरान इसके बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है. यह तूफान 18 मई की सुबह गुजरात के पोरबंदर और महुआ कोस्ट के बीच से गुजरेगा. तूफान के कारण केरल, तमिलनाडु में बाढ़ का खतरा पैदा होने के साथ कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र में भारी बारिश होने की संभावना है. प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी ने सनिवार को भारत में आने वाले चकार्वती तूफ़ान की समीक्षा की और राज्यों में इसकी तेयारियो को जायजा लिया है. इसके लिए उन्होंने राज्यों, केन्द्रीय मंत्रियों और संबंधित एजेंसियों के साथ बैठक की है.

एक बयान जारी करके कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने तूफान आने के दौरान आवश्यक सेवाओं जैसे बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य और पानी आदि को तत्काल बहाल करने की पूरी तैयारी हो. इस उच्चस्तरीय बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी शामिल हुए. बता दें कि गुजरात के अलावा चक्रवात तौकते के मुंबई के पास अरब सागर से गुजरने की उम्मीद है, भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने कहा है कि अगर ऐसा होता है तो शहर में बारिश और तेज हवाएं आने की सबसे अधिक संभावना है.

Cyclone Tauktae
The Financial Express

मौसम विभाग ने लक्षद्वीप द्वीप समूह, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, कोंकण और गोवा, गुजरात और पश्चिम राजस्थान में चक्रवात के प्रभाव के कारण हल्की और मध्यम से लेकर अत्यधिक भारी बारिश की भी भविष्यवाणी की है. मौसम विभाग का कहना है कि इस चक्रवात का सबसे ज्यादा असर गुजरात पर पड़ेगा. द्वारका, कच्छ, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, राजकोट, मोरबी और जामनगर जिलों में फूस के बने मकान पूरी तरह तबाह हो जाएंगे, मिट्टी के घरों को भी भारी नुकसान होगा, पक्के मकानों को भी कुछ नुकसान पहुंच सकता है. भारी बारिश के कारण कुछ इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो सकते हैं.

महाराष्‍ट्र में चक्रवाती तूफान ‘टाउते’ के खतरे को देखते हुए 580 कोरोना मरीजों को कोविड सेंटर से दूसरे अस्‍पतालों में शिफ्ट कर दिया गया है. चक्रवात टाउते की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है जबक‍ि 73 गांव प्रभावित हुए है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here