Cyclone Yaas | तट से टकराया साइक्लोन, बंगाल और ओडिशा के रहवासी क्षेत्र में घुसा समुद्र का पानी.

Cyclone Yaas: दक्षिण और मध्य बिहार के जिलों में दिखेगा ज्यादा असर

Cyclone Yaas
The Indian Express

Cyclone Yaas- यास तूफ़ान बुधवार यानी के आज सुबह करीब 9 बजे ओडिशा के भद्रक जिले के तट से टकराया यजः समुद्र में उची लहर उठ रही है. कई कलानियो में समुद्र का पानी भी भर गया है. इसके चलते बिहार के कई जिलो में जमकर बारिश हुई, तो कई जिलो में बादल छाए रहे. चकार्वती यास तूफ़ान की आहत बिहार और झारखंड में दिखने लगी है. तूफान को लेकर पूरे राज्य में अलर्ट है. आपदा विभाग के साथ ही मौसम विभाग ने भी लोगों से घरों में रहने और सावधानी बरतने की अपील की है. 120 किलोमीटर परती घंटे की रफ़्तार से हवाए चल रही है.

 पटना सहित बिहार के 26 जिलो में भारी बारिश का अलर्ट है. बंगाल के दीघा और मंदार्मानी में होटलों और दुकानों में समुद्र का पानी भर गया है. राज्य में यास का सबसे ज्यादा असर 27 और 28 मई को दिखेगा. उधर, यास का प्रभाव झारखंड के संताल-कोयलांचल में दिखा. जमशेदपुर समेत कई जगहों पर बारिश हुई. यहां भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले के हल्दिया में सेना, NDRF और तटरक्षक दल के लोग बचाव अभियान में जुटे. कोलकाता में सेना के 9 बचाव दलों को तैनाती के लिए तैयार रखा गया है.

Cyclone Yaas
The India Express

इनके अलावा 17 दलों को पुरुलिया, झारग्राम, बीरभूम, बर्धमान, पश्चिम मिदनापुर, हावड़ा, हुगली, नादिया के साथ 24 परगना उत्तर और दक्षिण में तैनात किया गया है. एयरफोर्स और नेवी ने भी अपने कुछ हेलिकॉप्टर और नावें राहत कार्य के लिए रिजर्व रखी हैं. तूफान को लेकर ओडिशा के 6 जिले हाई रिस्क जोन घोषित किए गए हैं. इनमें बालासोर, भद्रक, केंद्रपारा, जगतसिंघपुर, मयूरभंज और केओनझार शामिल हैं.

Cyclone Yaas
DW

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि 11.2 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है. तूफान के असर से हालिशहर में 40 हजार से ज्यादा घरों को नुकसान हुआ है. इस दौरान 4-5 लोग घायल भी हुए है. जिस तरह  चक्रवात ताउते की वजह से एक दिन में 80 से 90 मिली मीटर बारिश हुई, यास तूफान  में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल सकता है.

रविवार को जहां अधिकतम तापमान 39.2 डिग्री सेल्सियस था वही सोमवार को एक डिग्री कम होकर 38.4 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया. तूफान यास आने की आहट से पूर्व मध्य रेलवे ने पुरी और भुवनेश्वर सहित कई रूटों पर ट्रेनों को अस्थायी तौर पर रद्द कर दिया है. इसी क्रम में आनंद विहार से चलकर लखनऊ होते हुए पुरी तक जाने वाली नीलांचल एक्सप्रेस, विभूति एक्सप्रेस, पुरुषोतम एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों के परिचालन पर ब्रेक लगा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here