Delhi Liquor Home Delivery | दिल्ली में होगी अब शराब की होम डिलीवरी.जाने कैसे कर पाएंगे आर्डर.

Delhi Liquor Home Delivery: केजरीवाल सरकार ने दी इजाजत, वेबसाइट और एप से करे बुकिंग.

Delhi Liquor Home Delivery
GQ India

Delhi Liquor Home Delivery– कोरोना महामारी के चलते दिल्ली सरकार ने एक बड़ा फेसला लिया है. अब दिल्ली सरकार ने वेबसाइट और एप के जरिये शराब को होम डिलीवरी की मंजूरी दे दी है. हलाकि वही दुकाने होम डिलीवरी कर पाएंगी जिनके पास L-13 लाइसेंस होगा. शराब की होम डिलीवरी में सर्त यह भी होगी के शराब की होम डिलीवरी केवल घर पर होगी, किसी हॉस्टल, ऑफिस या अन्य संसथान में नहीं होगी.

Delhi Liquor Home Delivery
The India Express

कोरोना के कम होते हुए केस को देखते हुए दिल्ली को फिर से धीरे-धीरे अनलॉक करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है, लेकिन अभी शराब की दुकानों को खोलने पर फैसला नहीं हुआ है. ऐसे में दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लोगों को घर बैठे शराब ऑर्डर करने की छूट दी है. दिल्ली सरकार ने पिछले साल की शराब की होम डिलीवरी पॉलिसी पर भी विचार किया था, लेकिन पाया कि मौजूदा नियमों के तहत होम डिलीवरी संभव नहीं है, इसलिए पॉलिसी में संशोधन किए हैं. राजधानी दिल्ली में पिछले महीने लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही शराब की दुकानों पर भीड़ टूट पड़ी थी. 31 मई से लॉकडाउन में थोड़ी रियायत दी गयी है.

लेकिन शराब की दुकाने अब भी बंद है, पहले दिल्ली में शराब की होम डिलीवरी पर पूरी तरह से बेन नहीं था. अभी तक यह नियम यह था के L-13 लाइसेंस वाली दुकाने घरो तक शराब पंहुचा सकती थी. बस सरत यह थी के ओडर ईमेल या फेक्स के जरिये मिला हो. दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक, दिल्‍ली में मोबाइल ऐप या ऑनलाइन वेब पोर्टल के जरिए ऑर्डर करने पर भारतीय शराब के साथ विदेशी शराब की होम डिलीवरी की अनुमति होगी. हालांकि इससे पहले भी दिल्‍ली में शराब की होम डिलीवरी की अनुमति थी, लेकिन जब ईमेल या फैक्‍स के जरिए ऑर्डर मिलने के बाद लाइसेंसधारक को शराब पहुंचा सकते थे.

Delhi Liquor Home Delivery
OneIndia

बता दें कि पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों को शराब की होम डिलीवरी पर विचार करने का सुझाव दिया था, क्योंकि कोरोना महामारी के समय शराब की दुकानों के बाहर भारी भीड़ होने की वजह से सोशल डिस्‍टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ी थीं. बता दें कि दिल्ली में कोरोना की बेकाबू रफ्तार को देखते हुए अप्रैल से लॉकडाउन लगा दिया गया था. इसकी घोषणा होते ही शराब ठेकों पर देखते ही देखते भीड़ जमा हो गई थी. हर कोई इसी होड़ में लगा था कि किसी तरह जरूरत भर बोतलें मिल जाएं. भीड़ इतनी ज्यादा बढ़ गई कि कोविड नियम तो दूर, लोग सोशल डिस्टेंसिंग तक को भूल गए. गोल मार्केट इलाके में तो भीड़ इतनी अधिक हो गई थी कि पुलिस को क्राउड मैनेजमेंट करना पड़ गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here