दिल्ली लाजपत राय मार्किट में जैश के आतंकी गिरफ़्तार, 1 महीने पहले से थी हमले की तैयारी

Image Source; The Atlantic

दिल्ली पुलिस को पुलवामा हमले के बाद एक बड़ी कामयाबी मिली है। जैश के कुछ आतंकी दिल्ली में छिपे हुए थे, लेकिन दिल्ली पुलिस ने अब सज्जाद खान को देर रात लालकिले के पास लाजपत राय मार्किट में गिरफ्तार कर लिया है, शुरुआती जांच में सामने आया है की पुलवामा अटैक से पहले  सज्जाद भागकर दिल्ली आ गया था। लेकिन वह पुलवामा हमले के मास्टर माइंड मुदस्सिर के सम्पर्क में था।  दोनों का मिलना जुलना भी हो रहा था। सूत्रों की माने तो सज्जाद खान जम्मू कश्मीर में ही रहता है।

सज्जाद को पुलवामा में जो CRPF की बस पर हमला हुआ उसकी सारी जानकारी थी। सज्जाद खान मास्टरमाइंड मुदस्सिर से संपर्क में रहता था, जो कुछ दिनों पहले भारतीय सेना से मुठ भेड़ में मारा गया था। सज्जाद खान के 2 भाई है जो जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी संघटन में शामिल थे। इन दोनों को भी भारतीय सेना ने मार गिराया था, और अब सज्जाद को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इसे बहुत बड़ी कामियाबी माना  जा रहा है। भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसियों को जानकारी मिली थी की जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी दिल्ली में भी आतंकी हमला कर सकते है। इसके बाद से सुरक्षा बड़ा दी गई थी। इन्ही कोसिसो की वजह से सज्जाद खान पकड़ा गया और कोई आतंकी हमला नहीं हुआ। दिल्ली पुलिस के लिए यह बहुत बड़ी कामियाबी है।

Image Source; aajkikhabar.com

सज्जाद खान अब पुलिस की गिरफ्त में है जिससे सारी पूछताछ की जा रही है।  शुरूआती जांच में सामने आया है की पुलवामा अटैक से पहले एक अप्लीकेशन के जरिये बातचीत की गई थी, जो एक फ़र्ज़ी नंबर होता था। सज्जाद खान को दिल्ली में एक स्लीपर सेल बनाने के लिए भेजा गया था, और बताया गया की पुलवामा हमले की त्यारी एक महीने से की जा रही थी।अटैक से एक महीने पहले पाकिस्तान में एक बैठक हुई थी जिसमे  तालिबानी और हक्कानी नेटवर्क शामिल था। यह  बैठक पाकिस्तान के बहावलपुर में हुई थी।  मसूद अजहर यही सेअपनी सभी गतिविधियों को अंजाम देता है।  इस पूरी साजिस में  पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here