Guru Nanak Birthday Anniversary 2019: Guru Nanak Jayanti Quotes, Kavita & Important Talk About Guru Nanak

Guru Nanak Jayanti, When is Guru Nanak Jayanti, guru nanak jayanti 2019 date, guru nanak parv, 12 November guru nanak, गुरु नानक जयंती, guru nanak quotes,
Image Source: Pinterest

Guru Nanak Jayanti 2019: गुरु नानक जयंती सिख समुदाय का एक महत्वपूर्ण ओट पवित्र त्यौहार है, जिस त्योहार को सिख द्वारा बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। गुरु नानक जयंती (Guru Nanak Jayanti) को गुरुप्रब और गुरपुरब के नाम से भी जाना जाता है। वही आपको बता देते है कि गुरुनानक जयंती को इस साल कल यानी 12 नवंबर को मनाई जाएगी। सिख लोगो का मानना है कि गुरुनानक देव जी सिख धर्म के सबसे पहले गुरु थे और उन्ही के द्वारा सिख धर्म की स्थापना की गई थी। गुरुनानक जयंती के इस पावन अफसर पर हम आपको गुरुनानक जयंती कोट्स, कविता आदि शेयर करेंगे। जिनको जानने के लिए हमारे साथ बने रहे।

Guru Nanak Jayanti Quotes 2019

न कोई हिन्दू है ओर न ही कोई मुस्लिम है,
सभी मनुष्य है, सभी एक समान है
श्री गुरु नानक देव जी

हमेशा एक ईश्वर
की उपासना करो
श्री गुरु नानक देव

प्रभु के लिए खुशियों के गीत गाओ,
प्रभु के नाम की सेवा करो,
और उसके सेवकों के सेवक बन जाओ
श्री गुरु नानक देव

Guru Nanak Jayanti Kavita

ये बात काफी कम लोग ही जानते होंगे कि गुरु नानक जी का विवाह 16 वर्ष की उम्र में हो गया था ओर शादी के ठीक 16 साल बाद उनके एक संतान हुई। साथ ही कुछ साल बाद इनके एक और संतान हुई। लेकिन इस साब के बाद वे अपने चार साथियों के साथ तीर्थ यात्रा पर निकल गए

जय जय गुरु नानक प्यारे ।
जय जय गुरु नानक प्यारे ॥
तुम प्रगटे तो हुआ उजाला
दूर हुए अँधियारे ॥
जय जय गुरु नानक प्यारे ॥

जगत झूठ है सच है ईश्वर
तुमने ही बतलाया ।
वेद पुरान कुरान सभी का
सार हमें समझाया ।
पावन ‘गुरुवाणी’ से हरते
सब अज्ञान हमारे ॥
जय जय गुरु नानक प्यारे ॥

 

Guru Nanak Dev Ji Important Talks

सिख पंथ के पहले गुरु गुरु नानक देव जी के बारे में बहुत सी अन्य बातें या फिर इसको चमत्कार कहें तो ज्यादा अच्छा रहेगाl श्री गुरु नानक देव जी ने अपने समय में लोगों को जीने का तरीका अतः मरने की वजह सिखा दी l श्री गुरु नानक देव तेवर आधारित कुछ बातें आपको नीचे बताई गई है आप वहां से इन बातों को जान सकते हैं जो गुरु नानक देव जी ने अपने जीवन में की थीl

गुरु नानक देव जी के दो चेले थे एक बाला और एक मर्दानी एक हिंदू और एक मुस्लिम l 1 दिन मर्दाना नहीं गुरु जी से कहा मैं मक्का जाना चाहता हूं क्योंकि एक मुसलमान सच्चा मुसलमान तब तक नहीं कह रहा था जब तक वह मक्का ना जाए l यह बात सुनकर गुरुजी उन्हें मक्का लेकर गए l मक्का पहुंचते-पहुंचते गुरुजी बहुत थक गए थे इसीलिए वहां हाजियों के लिए बने आराम ग में मक्का की तरफ पाओं करके आराम कर लेना उसी वक्त हाजियों की सेवा करने वाला व्यक्ति जिसका नाम जिओन था जो यह देख कर बहुत क्रोधित हुए और बोलने लगे कि तुम कैसा बनता है तुमको पता नहीं वहां मक्का रखा है और तुम उसकी तरफ आओ करके लेटा है गुरुजी ने कहा मेरी कोई गलती नहीं है मैं भी तुम्हारी तरह खुदा को मानता हूं मुझे नहीं पता खुदा का घर कहां है मगर तुम्हें तो पता है तो तुम ही मेरे पास तरफ कर दो जिओनी जब गुरुजी के पास दूसरी तरफ करें तो मक्का भी उनके पांव की दिशा में ही चला गया यह देख कर जीवन हैरान रह गया और कहने लगा तुम तो खुदा के बंदे हो l

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here