Janmashtami 2019: जानें कब मनाई जाएगी जन्माष्टमी, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्‍व आदि

Janmashtami date in 2019, janmashtami 2019, janmashtami 2019 in mathura, janmashtami kab ki hai, janmashtami 2019 date in india calendar, janmashtami in hindi, janmashtami article

Janmashtami date in 2019, janmashtami 2019, janmashtami 2019 in mathura, janmashtami kab ki hai, janmashtami 2019 date in india calendar, janmashtami in hindi, janmashtami article
Image Source : godwallpape

Janmashtami 2019: जन्माष्टमी का त्यौहार कृष्ण (Krishna) भगवान् के पैदा होने की ख़ुशी में पूरे देश में धूम-धाम से मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है की जन्माष्टमी के दिन ही भगवान श्री कृष्ण ने देवकी और वासुदेव के घर में आठवेपुत्र के रूप में जन्म लिया था। जो की काफी शुभ दिन माना जाता है, और देवकी और वासुदेव की ज़िन्दगी में एक नयी आशा की किरण भी थी । भगवान विष्णु ने ही कंस का अंत करने के लिए नन्हे बालक श्री कृष्ण के रूप में धरती पर जन्म लिया था। ऐसी भविष्यवाणी कंस के कानो में सुनाई दी थी। जो की एक तरह से कंस के मौत का पैगाम था। कंस ने बहुत कोशिश करी श्री कृष्ण को मारने की लेकिन, वह अनजान था इस बात से की कृष्ण और कोई नहीं बल्कि विष्णु भगवान (Lord Vishnu) का ही बालक अवतार है। जो की कंस को समाप्त करने के लिए धरती पर जन्म ले चूका है। देवकी कंस की ही बहन थी इसलिए कृष्ण बालक कंस को कंस मामा कह कर बुलाते थे।

क्यों मानते है जन्माष्टमी का त्यौहार ?

कृष्ण जन्माष्टमी 2019: जन्माष्टमी भारत के इतिहास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है, जिसको हर साल भगवन कृष्ण के पैदा होने के ख़ुशी में बड़े ही धूम-धाम और उल्लास के साथ   मनाया जाता है। ऐसा कहा जाता है की सालो से धरती पर हो रहे पाप को जड़ से ख़तम करने के लिए खुद विष्णु जी ने नन्हे बालक कृष्ण भगवान जी का रूप लिया था, और इसी तरह बुराई पर अच्छाई की जीत हुई थी। हर साल इसी दिन छोटे-छोटे बच्चे कृष्ण भगवान के पोशाक में स्कूल और मंदिरो में होने वाले कृष्ण जन्माष्टमी के पवित्र उत्सव में भाग लेते हुए नज़र आते है। जिसको देखकर लोग काफी खुश होते है। इस दिन कई जगहों पर राधा कृष्ण (Radha Krishna) का खूबसूरत नृत्य देखने को मिलता है, जो की हर किसी के दिल को भा जाता है। महानगरों की बात करे तो दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े शहरों में जन्माष्टमी की रौनक देखने लायक होती है। पूरे शहर को रंग बिरंगी बतियो से सजा दिया जाता है, इसके अलावा बाजार में लज़ीज़ मिठाइयाँ और अन्य पकवान दखने को मिलते है। जिसको देख हर किसी के चेहरे पे ख़ुशी छलकते हुए दिखाई देती है । जगह-जगह पर डांडिया  प्रोग्राम आयोजित किये जाते है, जिसमे खास तौर पर औरते और बच्चे रंग बिरंगी पोशाके पहन कर भगवान कृष्ण को लुभाने आते है।

इस साल कृष्ण जन्माष्टमी 2019 के पवित्र त्यौहार का मुहूर्त कुछ इस तरह है

Janmashtami 2019: आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस साल जन्माष्टमी का त्यौहार देश भर में  24 अगस्त 2019 को धूम-धाम से मनाया जायेगा। बड़े बुज़र्गों का ऐसा कहना है, की जन्माष्टमी का त्यौहार भादो मास के कृष्णपक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। अष्टमी के दिन ही भगवान श्री कृष्ण का जनम हुआ था। इसीलिए इस पवित्र दिन को कृष्ण जन्माष्टमी का नाम दिया गया। अब हम कृष्ण जन्माष्टमी पूजा के मुहूर्त के बारे में नीचे जानकारी देने जा रहे है जो की आप सभी के लिए जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

Janmashtami 2019 Timing and Auspicious Beginning

अगर हम तिथि के हिसाब से बात करे तो जन्माष्टमी का त्यौहार इस साल 24 अगस्त 2019 को मनाया जायेगा। बात करे मुहूर्त की तो जन्माष्टमी पूजा का मुहूर्त रात 12 :01 से 12 :45 तक का है, वही पूजा की अवधि 45 मिनट की होगी।

Janmashtami date in 2019, janmashtami 2019, janmashtami 2019 in mathura, janmashtami kab ki hai, janmashtami 2019 date in india calendar, janmashtami in hindi, janmashtami article

क्यों रखे जन्माष्टमी के शुभ दिन पर उपवास (व्रत)

कृष्ण जन्माष्टमी 2019: ऐसा कहा जाता है की इस दिन व्रत रखने से सभी दुःख दर्द दूर हो जाते है, और घर में शांति बनी रहती है। इसके अलावा यह भी कहा जाता है, की अगर जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर यदि। भगवान कृष्ण खुश होजाये तो घर में सनतान  प्राप्ति होती है। एक और बात आपको बताना चाहते है की जन्माष्टमी पर शहर इलाको के मंदिरो को दुल्हन की तरह सजा दिया जाता है और यह भी कहा जाता है की इस दिन भगवान कृष्ण को छूले  छुलाने से घर परिवार में खुशी आती है।

कैसे करे भगवान कृष्ण का श्रृंघार

कृष्ण जन्माष्टमी 2019: भगवान कृष्ण को फूल काफी ज्यादा पसंद है, इसी लिए सबसे पहले उनका श्रृंघार फूलो से करना चाहिए। इसके लिए पीले रंग के फूलो का प्रयोग कर सकते है। लेकिन वैजयंती के फूलो से श्रृंघार किया जाये तो काफी शुभ माना जाता है। भगवान कृष्ण को जन्माष्टमी के दिन पीले कपडे और गहनों से सजाना चाहिए। जो की काफी ज़्यादा शुभ माना जाता है। साथ ही साथ इस चीज का भी ध्यान रखना चाहिए की कृष्ण भगवान को “काले कपडे ना पहनाये” वरना कृष्ण भगवान क्रोधित भी हो सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here