Jitin Prasad | बीजेपी में सामिल हुए जितिन परसाद.काग्रेस को बड़ा झटका.

Jitin Prasad: उत्तर परदेश चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका.

Jitin Prasad
Times of India

Jitin Prasad– उत्तर परदेश कांग्रेस के बड़े नेता जितिन परसाद ने बीजेपी में सामिल हो गए है. उन्होंने बीजेपी मुख्यालय पहुचकर पार्टी की सदस्यता ली. उन्हें रेल मंत्री पियूष गोयल ने सदस्यता दिलाई है. इससे पहले जितिन प्रसाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. बीजेपी में जितिन प्रसाद का स्वागत करते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि वह उत्तर प्रदेश की सेवा में लंबे समय से लगे रहे हैं. गोयल ने कहा कि उनकी सिर्फ 27 साल उम्र थी, जब पिता जितेंद्र प्रसाद का निधन हो गया था. तब से ही वह यूपी की सेवा में लग गए थे.

Jitin Prasad
Times of India

उत्तर प्रदेश की राजनीति में उनकी बड़ी भूमिका रही है. वहीं जितिन प्रसाद ने कहा कि ‘आज कोई वास्तव में संस्था के तौर पर काम करने वाला दल है तो वह भाजपा है. बाकी दल, व्यक्ति विशेष और क्षेत्रीयता तक सीमित रह गए हैं. पीएम मोदी नए भारत का जो निर्माण कर रहे हैं, उसमें मुझे भी छोटा सा योगदान करने का मौका मिलेगा.

 कांग्रेस का जिक्र करते हुए प्रसाद ने कहा कि अगर आप किसी पार्टी में रहकर अपने लोगों के काम नहीं आ सकते हैं तो वहां रहने का क्या फायदा. मुझे उम्मीद है कि भाजपा समाजसेवा का माध्यम बना रहेगा.

 जितिन परसाद के 2019 में ही कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आने की चर्चा चली थी. दावा यहां तक किया जाता है कि जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल होने के लिए दिल्ली रवाना हो चुके थे, लेकिन यूपी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उन्हें फोन कर मना लिया और प्रसाद रास्ते से लौट गए. अब कहा जा रहा है कि इस बार जितिन प्रसाद ने दो दिनों से अपना फोन बंद कर रखा था. दरअसल, जितिन प्रसाद लंबे समय से पार्टी आलाकमान से नाराज चल रहे थे.

Jitin Prasad
India TV

पार्टी में उचित जगह नहीं मिलने पर वह कई बार नाराजगी भी जाहिर कर चुके थे, लेकिन पार्टी लगातार अनदेखी कर रही थी. ऐसे में जितिन ने कांग्रेस छोड़ेने का मन बना लिया. जितिन प्रसाद ने पिछले दिनों यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की बधाई दी थी. इसके अलावा उन्होंने ट्वीट से खुद के कांग्रेस नेता होने का जिक्र भी हटा लिया था. इसके बाद से ही उन्हें लेकर चर्चाएं शुरू हो गई थीं. बीते लोकसभा चुनाव के दौरान ही वह बीजेपी में शामिल होने वाले थे, लेकिन कांग्रेस उन्हें मनाने में कामयाब रही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here