Kargil Vijay Diwas 2021 | कारगिल विजय दिवस

Kargil Vijay Diwas 2021: शहीदों का किया जाएगा सम्मान

Kargil Vijay Diwas 2021
Times of India

Kargil Vijay Diwas 2021– कारगिल विजय दिवस- आज देश कारगिल विजय दिवस की 22वि साल्गिरहा मना रहा है. भारत हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाता है. इस दिन 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना ने जीत हासिल की थी. इसलिए यह दिन कारगिल युद्ध के शहीद जवानों को समर्पित है. सैनिकों ने जिस वीरता से लड़ाई लड़ी उसी बहादुरी से सेना के डॉक्टर और मेडिकल टीम ने हर मोर्च पर उनका साथ दिया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर भारतीय सेना के शौर्य को सलाम किया. प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी ने लिखा के, आज करगिल दिवस के मौके पर हम उन सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दी. उनकी बहादुरी हमें हर दिन प्रेरणा देती है.

 कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस मौके पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

 कारगिल युद्ध जम्मू और कश्मीर के कारगिल जिले में नियंत्रण रेखा के साथ हुआ था. पकिस्तान की सेना ने इस इलाके पर कब्ज़ा करने के लिए सर्दियों में घुस्पेठियो के नाम पर अपने सेनिको को भेजा था. उनका मुख्या उद्देश्य लद्दाख और कश्मीर के बिच सम्बन्ध तोडना और भारतीय सीमा पर तनाव पैदा करना था. उस समय घुसपैठिए शीर्ष पर थे जबकि भारतीय ढलान पर थे और इसलिए उनके लिए हमला करना आसान था. अंत में दोनों पक्षों के बीच युद्ध छिड़ गया. पाकिस्तानी सैनिकों ने नियंत्रण रेखा को पार कर भारत के नियंत्रण वाले क्षेत्र में प्रवेश किया. क्या आप जानते हैं कि कारगिल 1947 में भारत के विभाजन से पहले लद्दाख के बाल्टिस्तान जिले का हिस्सा था और पहले कश्मीर युद्ध (1947-1948) के बाद LOC द्वारा अलग किया गया था.

Kargil Vijay Diwas 2021
Amar Ujala

रविवार को तोलोलिंग, टाइगर हिल और दूसरी बड़ी लड़ाईयों को याद किया गया और इसी के साथ लद्दाख में द्रास क्षेत्र में करगिल युद्ध स्मारक पर 559 दीपक जलाए गए. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इस मौके पर तिलहटी में स्थित स्मारक पर श्रद्धांजलि देने के लिए जाएंगे और पीएम मोदी इस दिन हर साल इंडिया गेट पर मौजूद अमर जवान ज्योति पर जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं.

 कारगिल विजय दिवस पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने देश की रक्षा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले सभी सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए जम्मू और कश्मीर के बारामूला के डैगर युद्ध स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की.

Kargil Vijay Diwas 2021
India TV News

कारगिल युद्ध के खत्म होने के बाद पाकिस्तान ने इसमें किसी भी तरह की भूमिका होने से इनकार कर दिया और कहा कि भारत ‘कश्मीरी स्वतंत्रता सेनानियों’ से लड़ रहा था हालांकि युद्ध में लड़ने वाले सैनिकों को बाद में पाकिस्तान ने सम्मानित किया. इन्हें हार मिलने के बाद मेडल से नवाजा गया, जिससे पाकिस्तान का दावा दुनिया का सबसे बड़ा झूठ साबित हुआ. वहीं भारत ने कारगिल युद्ध के बाद रक्षा क्षेत्र में बजट का बड़ा हिस्सा खर्च करने का फैसला लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here