NASA ने दी जानकारी की चंद्रमा पर भाप मौजूद है, नासा ने भारत की तीन टीमों को पुरस्कार दिया है।

Image Source; CNN.com

NASA अमेरिका की स्पेस एजेंसी ने एक रिपोर्ट में बताया की, चाँद पर जब  उल्का पिंड गिरती है तो चाँद की सतह से पानी निकलता है। आने वाले समय में यह जानकरी बहुत लाभदायक साबित होगी, इस जानकारी के जरिये कई नई खोज हो सकती है। चंद्रमा पर पानी होने से चाँद पर जीवन होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। ऐसा इसलिए क्योकि जीवन उत्पन होने के लिए पानी बहुत महत्वपूर्ण है। इस जानकारी का मालूम एक नासा अभियान के जरिए पता लग सका, जिसका नाम लुनार एट्मसफियर एंड डस्ट इनवायरमेंट एक्सप्लोरर है। यह अभियान खाश तोर पर चंद्रमा पर जीवन के पता लगाने के लिए शुरू किया था, इस अभियान ने अक्टूबर 2013 से अप्रैल 2014 तक चंद्रमा की ऑरबिट का चक्कर लगाया। इस अभियान से सामने आया की चंद्रमा पर उल्काएं गिरने से पानी निकलता है।

कैलिफोर्निया स्थित सिलिकॉन वैली में नासा के एम्स रिसर्च सेंटर में एलएडीईई प्रोजेक्ट चल रहा है। इसी अभियान से जुड़े कुछ वैज्ञानिक ने बताया की चंद्रमा पर ज्यादातर वक्त H2O (पानी) और OH की मात्रा नहीं पाई जाती लेकिन जब चंद्रमा के नजदीक से कोई उल्का पिंड गुजरती है, तो भाप उतपन होती है। उल्का पिंड गुजरने से चंद्रमा के पास भाप उतपन होती है, जिससे यह साबित होता है की चाँद पर पानी मौजूद है। नासा की एक प्रेस रिलीज में यह बात कही गई है. चंद्रमा पर पानी और भाप से जुड़ी यह स्टडी ‘नेचर जियोसाइंस’ में छपी है जिसे नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के मेहदी बेना ने तैयार की है। अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा के मुताबिक इस ऐतिहासिक खोज से वैज्ञानिकों को काफी फायदा होगा, वैज्ञानिकों को चंद्रमा की सतह की और अधिक जानकारी प्राप्त होगी।

Image Source; ScienceAlert

आपको बता दे की  नासा ने ह्यूमन एक्सप्लोरेशन रोवर चैलेंज के तौर पर भारत की तीन टीमों को पुरस्कार दिया है।आपको बता दे की यह चैलेंज क्या था, दरसल चैलेंज के तहत हाई स्कूल और कॉलेज के छात्रों को चांद और मंगल ग्रहों पर भविष्य के अभियान के लिए रोविंग एयरक्राफ्ट बनाने और उनका टेस्ट करने के लिए बुलाया जाता है।भारत के गाजियाबाद में केआईईटी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस की टीम है जिसने यह चैलेंज पूरा किया और नील आर्मस्ट्रांग बेस्ट डिजाइन अवार्ड’ जीता। दूसरा पुरस्कार मुंबई के  मुकेश पटेल स्कूल ऑफ टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट एंड इंजीनियरिंग ने ‘फ्रैंक जो सेक्सटन मेमोरियल पिट क्रू अवार्ड’जीता है। तीसरा पुरस्कार पंजाब के फगवाड़ा की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी की टीम ने रॉकेट और अन्य अंतरिक्ष संबंधित विषयों पर दिए जाने वाले ‘स्टेम एन्गेजमेंट अवार्ड’ जीता।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here