नेपाल में अली पे और वीचैट पर लगाया प्रतिबंध, इस कारण से

Image Source: PhoneWorld

नेपाल सरकार ने चीन को झटका दिया है, दरअसल नेपाल के केंद्रीय बैंक में चीन के ऑनलाइन पेमेंट अली पे और वीचैट के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है। नेपाल सरकार ने यह फैसला नेपाल मे आने वाले चीनी पर्यटकों से होने वाली विदेशी मुद्रा की कमाई में गिरावट की आशंका के चलते यह महत्वपूर्ण फैसला लिया है। नेपाल में हर प्रतिवर्ष बहुत बड़ी संख्या में दुनिया भर से पर्यटक घूमने आते हैं। पिछले वर्ष केवल चीन से 1.5 लाख पर्यटक नेपाल में घूमने आए थे। इस फैसले के पीछे नेपाल सरकार ने इसका कारण भी बताया सरकार का कहना है कि होटल रेस्टोरेंट और दुकान मे इन ऑनलाइन पेमेंट के इस्तेमाल पर एक नोटिस भी जारी किया, सरकार का कहना है कि देश को विदेशी मुद्रा का घाटा हो रहा है। इसलिए इन ऑनलाइन पेमेंट प्लेटफॉर्म पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है।

सरकार ने स्पष्ट कर दिया है की बैंक की अनुमति बगैर इन ऑनलाइन पेमेंट प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करना गैर कानूनी होगा प्रतिबंध का पालन ना करने पर उस व्यक्ति पर सरकार की ओर से सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी साथ ही सरकार का कहना है की इन ऑनलाइन पेमेंट के जरिए किया गया लेन-देन नेपाल में रिकॉर्ड नहीं होता जिसके कारण इसका कोई आंकड़े मौजूद नहीं है।

Image Source: Kr-Asia

वीचैट और अली पे क्या है

वीचैट और अली पे चीन के दो प्रमुख ऑनलाइन पेमेंट प्लेटफॉर्म है जिनके जरिए पैसों का लेन-देन किया जाता है अली पे को ई कॉमर्स के दिग्गज कंपनी अलिबाबा ने शुरू किया था वीचैट चीन की मल्टीनेशनल कंपनी टेंसेंट की है। इस एप्लीकेशन को पहली बार जनवरी 2011 में लॉन्च किया गया था साथ ही यह एप्लीकेशन कुल 52 भाषा को सपोर्ट करता है इससे किसी व्यक्ति से बातचीत और लेनदेन किया जा सकता है। अली पे को फरवरी 2014 में लॉन्च किया गया था इस के स्थापक जैक मा है इस एप्लीकेशन से पैसों का लेन-देन किया जा सकता है विश्व की सबसे बड़ी मोबाइल भुगतान सेवा में से एक है चीन में इस एप्लीकेशन का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए हमारे साथ बने रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here