Pakistan’s Mango Diplomacy | चीन और अमेरिका ने वापस किए गिफ्ट के रूप में भेजे गए आम

Pakistan's Mango Diplomacy: नहीं कबूले तोहफे में भेजे गए आम

Pakistan's Mango Diplomacy
Prime News

Pakistan’s Mango Diplomacy– पकिस्तान दुनिया भर में अपने रिश्तो को आम के जरिये सुधारने की कोशिस में लगा है. कोरोना महामारी के दोर में जहाँ दुनिया इस कोरोना सक्रमण से परेशान है, वही पकिस्तान दुनिया भर में आम भेजकर अपने रिश्तो को सुधारने में लगा हुआ है. दुनिया भर के 32 से अधिक देशो के प्रमुखों को तोहफे में आम भेजा था लेकिन पाकिस्तान के इस तोहफे को अमेरिका, चीन के साथ-साथ कई अन्य देशों ने स्वीकार नहीं किया.

Pakistan's Mango Diplomacy
Republic World

आर्थिक तंगी से जूझ रही पाकिस्तान की इमरान सरकार ने नई कूटनीतिक रणनीति अपनाई है. चीन और अमेरिका ही नहीं कनाडा, नेपाल, मिस्र और श्रीलंका ने भी पाकिस्तान की ओर से तोहफे में भेजे गए आमों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया. इनमें से कई देशों ने आम के बक्शों को यह कहकर रखने से इनकार कर दिया कि कोरोना संक्रमण के दौरान उनके यहां कड़े प्रतिबंध है इस वजह से वह यह भेंज स्वीकार नहीं कर सकते.

रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी की ओर से 32 देशों के राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के प्रमुखों को ‘चौसा’ आम भेजे गए थे. आमों की पेटी को ईरान, खाड़ी देशों, तुर्की, अमेरिका, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और रूस भेजा गया था. मीडिया रिपोर्ट ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की इस सूची में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का भी नाम था, लेकिन पेरिस से पाकिस्तान के इरादे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

Pakistan's Mango Diplomacy
Eisamay

कोरोना संक्रमण के बाद पाकिस्तान में आर्थिक संकट है. पाकिस्तान इन देशों से अपने संबंध मजबूत करना चाहता है इसलिए आम भेजकर रिश्तों में जमी खटास को दूर करने की कोशिश में था. चीन के साथ उसके संबंध गहरे हैं इसके बावजूद भी चीन ने भेंट स्वीकार करने से इनकार कर दिया. पाकिस्तान अपने देश में लगातार निवेश के लिए प्रयास कर रहा है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here