State of Siege | State of Siege Review | State of Siege : Temple Attack Movie Review

State of Siege Temple Attack
YouTube

State of Siege State of Siege ReviewState of Siege : Temple Attack Movie Review– अक्षय खन्ना, गौतम रोडे और विवेक दहिया जेसे सितारों से सजी फिल्म State of Siege Temple Attack गुजरात के अक्षरधाम मंदिर में हुए आतंकवादी हमले पर आधारित है. यह फिल्म आज ओटीटी पर रिलीज हो गयी है. आप इसे जी5 पर देख सकते है. यह एक एक्शन फिल्म है. इससे पहले केन घोष ने स्टेट ऑफ सीज: 26/11 नाम की वेब सीरीज बनाई थी जो खूब पसंद की गई थी, इस बार उन्होंने फिल्म बनाई है.

State of Siege Temple Attack
Scroll.in

फिल्म की कहानी 2001 से शुरू होती है जहां एनएसजी कमांडो हनुत सिंह(अक्षय खन्ना) अपनी टीम के साथ मिनिस्टर की बेटी को बचाने जाते हैं. यहां मंत्री की बेटी को बचाने के बाद सीनियर के ऑर्डर को नजरअंदाज करने के कारण कुछ आतंकी हनुत के दोस्त को मार देते हैं, जिससे उसका आत्मविश्वास खत्म हो जाता है. वहीं रोहित बग्गा (विवेक दहिया) जो हनुत को खास पसंद नहीं करता, जबकि समीर (गौतम रोड़े) हनुत का अच्छा दोस्त है.

फिल्म की कहानी गुजरात के कृष्णधाम मंदिर से शुरू होती है, जहां कई परिवार अलग-अलग शुभ वजहों से दर्शन करने आते हैं, तो कुछ वहीं काम करते हैं, अचानक आतंकवादियों का हमला हो जाता है, लोग कैसे इस हमले से बचते हैं, क्या क्या परेशानियां लोगों को होती हैं, कितने लोग इसमें अपनी जान गंवाते हैं, और एनएसजी कैसे इसमें एंगेज होकर लोगों को बचाने की कोशिश करती है, कैसे लोग मजबूर हो जाते हैं देशद्रोह के लिए, इन तमाम पहलुओं को ये फिल्म बखूबी दिखाती है.

State of Siege Temple Attack
The Indian Express

फिल्म में एक्शन है, इमोशन है, दर्द है और देशभक्ति की भावना भी है. ये फिल्म आपको हैरान करती है, चौंकाती है और जो आप सोचते हैं उसका उल्टा ही होता है. अचानक से होने वाले एक्शन सीन आपको हैरान कर देंगे. अचानक हुए आतंकी हमले में कई लोगों की जान चली जाती है. ये आतंकी एक और आतंकी (बिलाल) को छुड़ाने के लिए एक-एक करके कई आम लोगों की जान लेने लगते हैं. कमांडो हनुत सिंह के बहुत कहने पर उसको स्थिति को हाथ में लेने की जिम्मेदारी दी जाती है. इसके बाद वह अपनी टीम के साथ जाकर आतंकियों भिड़ता है. हनुत किस तरह से आतंकियों को मौत के घाट उतारता है, ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.


अभिनय की बात करें तो अक्षय खन्ना ने हर बार की तरह इस बार भी अपने अभिनय की छाप छोड़ी है, वहीं गौतम रोडे अपने छोटे से रोल में जमे हैं , उनका किरदार मेजर समर का है जिसे और भी अच्छे तरीके से दिखाया जा सकता था क्योंकि उनकी वाइफ मां बनने वाली होती है और उन्हें उसे छोड़कर मिशन पर जाना होता है, मगर ऐसा लगा कि उनके सीन को थोड़ा और बड़ा करके और भी इमोशनल एंगल दिया जा सकता था.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here