Uttarakhand Chamoli Disaster News | Uttarakhand Glacier Burst LIVE

Uttarakhand Chamoli Disaster News: पूरी तरह नष्ट हुआ तपोवन बांध

Uttarakhand Chamoli Disaster News
India TV Hindi

Uttarakhand Chamoli Disaster News– उतराखंड के तपोवन में ग्लेशियर के फटने की वजह से धोलिगंगा नदी में बाढ़ आ गयी. रविवार सुबह करीब 10:30 बजे हुआ यह हादसा. इससे चमोली से हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया है. सुचना मिलते ही प्रशासन की टीम मोके के लिए रवाना हो गयी. चमोली जिले के नदी किनारे की बस्तियों को पुलिस लाउडस्पीकर से अलर्ट कर रही है. इस हादसे में जल विधुत परियोजना पर काम कर रहे करीब 170 श्रमिक लापता है. अभी तक 10 लोगो के मारे जाने की खबर है.

ग्लेशियर फटने से मची तबाही से कई पावर प्रोजेक्ट पर भी असर पड़ा है. इसके साथ ही हरिद्वार जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है. सभी थानों और नदी किनारे बसी आबादी को स्तरक रहने के आदेश दिए गये है. आपको बता दे के ऋषिकेश में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. सेना के हेलीकाप्टर को भी बचाव कार्य में तेनात किया गया. कई गावो का सम्पर्क कटा है. केंद्र सरकार ने मर्तको के परिजन के लिए 2-2 लाख रूपए मुवावजे की घोषणा की. उतराखंड के CM त्रिवेंद्र रावत ने हादसे के मर्तको को परिजनों के लिए 4-4 लाख रूपए की मुवावजे का ऐलान किया है. तपोवन बेराज पूरी तरह से धवस्त हो गया है.

Uttarakhand Chamoli Disaster News
Amar Ujala

श्रीनगर में प्रशासन ने नदी किनारे बस्तियों में रह रहे लोगो से सुरक्षित स्थानों में जाने की अपील की है. वही नदी में काम कर रहे लोगो को भी हटाया जा रहा है. बाढ़ के बाद अब धोली नदी का जल स्तर पूरी तरह रुक्का हुआ है. तपोवन के पास मलारी घाटी की सुरुवात में बने दो पुल भी नस्ट हो चुक्के है. जोशीमठ और तपोवन के बिच मुख्या सड़क मार्ग पर इसका कोई असर नहीं पड़ा है. घाटी में निर्माण कार्य और स्थानीय लोग बुरी तरह प्रभावित हुए है. प्रशासन की और से बीती रात लोगो को राहत सामग्री पहुचाई गयी. हादसे के बाद चारो और मलबा ही मलबा दिकाई दे रहा है.

Uttarakhand Chamoli Disaster News
Amar Ujala

NTPC अधिकारियो ने प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देते हुए बताया की 520 मेगावॉट का तपोवन हाइड्रो-इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य जारी था. इसकी लागत 3000 करोड़ रूपए है. साईट पर काम कर रहे करीब 170 सर्मिक लापता है. उनकी तलाश में अभियान जारी है. चमोली में आई आपदा पर प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी जी ने दुःख जाहिर किया है. इसके साथ ही आपदा में जान गवाने वाले लोगो के परिवार वालो को 2 लाख रूपए और गंभीर रूप से घायल लोगो को 50 हजार रूपए के मुवावजे का ऐलान किया है. भारतीय नो सेना की सात गोताखोर टीम उतराखंड में रहत बचाव आपरेशन के लिए स्टैंडबाय पर है. मलारी के पास एक सीमा सड़क संगठन पुल बाढ़ से बहा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here