World AIDS Day: जानिए क्यों मनाया जाता है World AIDS Day

नमस्कार दोस्तो World AIDS Day के बारे में आज बात कर रहे हैं। हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है। एड्स की बीमारी से फैलने वाले संक्रमण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए हर साल वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है। एड्स आज के जमाने में एक सबसे बड़ी समस्या है। UNICEF की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 37.9 मिलियन लोग एड्स की बीमारी का शिकार हो चुके हैं। दुनिया में हर दिन 980 बच्चे एड्स की बीमारी से संक्रमित होते हैं। इनमे से 320 बच्चों की मौत हो जाती है।

वर्ल्ड एड्स डे का इतिहास

भारत सरकार द्वारा जारी किए गए रिपोर्ट के हिसाब से भारत मे HIV के रोगियों की गिनती 2.1 मिलियन बताई जा रही है। 1987 में सबसे पहले  जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर ने वर्ल्ड एड्स डे मनाया था।

जानिए एड्स होने के क्या कारण होते हैं।

1. unsafe संबंध बनाने से।
2. संक्रमित खून चढ़ने से।
3. एक बार इस्तेमाल की गई सुई का दोबारा इस्तेमाल करने से।
4. इन्फेक्टेड ब्लेड का इस्तेमाल करने से।

HIV के लक्षण क्या होते है।

HIV के कई सारे लक्षण होते हैं जैसे कि पसीना आना, बुखार, ठंड लगना, थकान होना, भूक कम लगना, वजन घटना, उल्टी आना, गले में खराश होना, दस्त होना, खासी होना, सास लेने में समस्या होना और स्किन परेशानी होना।

आज की जानकारी में आपको मुख्य रूप से वर्ल्ड एड्स डे के बारे में बताया गया है। वर्ल्ड एड्स डे क्यो मनाया जाता है। वर्ल्ड एड्स डे का इतिहास क्या है। HIV के कारण क्या होते हैं और HIV के लक्षण क्या होते हैं। एक बार से बताना चाहते हैं कि हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है। आपके पूरे परिवार को वर्ल्ड एड्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं। हमारी जानकारी जानने के लिए धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here