World Environment Day | पर्यावरण दिवस जाने कैसे हुई इस दिन की सुरुवात.

World Environment Day: आखिर क्यों मनाया जाता है पर्यावरण दिवस?

World Environment Day
The Indian Express

World Environment Day– पर्यावरण दिवस हर साल 5 जून को मनाया जाता है. इस दिवस को मानाने का मुख्य उदेश्य है के लोगो को पर्यावरण के परती जागरूक करना. हमारे जीवन में कई चीजो का महत्व होता है. पर्यावरण भी उन्ही में से एक अहम् जरुरत है. हम सबकी जिम्मेदारी है के हम अपने पर्यावरण की रक्षा करे. लेकिन आज के समय में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता के इंसान ही पर्यावरण को सबसे जयादा नुक्सान पहुचाता है.

World Environment Day
FirstCry Parenting

पेड़ो की कटाई से लेकर घनो जंगलो को सपाट बनाने जैसे कई काम इंसानो ने ही किये है. हर साल बड़ी संख्या में पेड़ काटे जाते है. बदलते दोर में लोगो की पर्यावरण के परती जागरूकता बढ़ी है. एक तरफ विकास के लिए पेड़ो की कटाई हो रही है, तो दूसरी तरफ लोग घरो में गार्डन विकसित कर इस कमी को पूरा करने में अहम् योगदान दे रहे है. सन 1972 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित पर्यावरण सम्मेलन चर्चा में आया था.

 

इसके बाद इस दिन को हर साल मनाया जाने लगा. 5 जून 1974 से यह पूरी तरह से लागू हुआ. हर साल एक नई थीम के साथ इस दिवस को मनाया जाता है. हर साल इस दिन को मनाने के लिए एक थीम रखी जाती है, जिसके आधार पर ही इस दिन को मनाया जाता है. ठीक ऐसे ही इस साल 2021 में भी इस दिन के लिए थीम रखी गई है. साल 2021 की थीम पारिस्थितिकी तंत्र बहाली है. पारिस्थितिक तंत्र की बहाली कई रूप में हो सकती है, जैसे- पेड़ उगाना, शहर को हरा-भरा करना, बगीचों को फिर से बनाना, नदियों और तटों की सफाई करना आदि.

World Environment Day
The Sentinel Assam

हर किसी को इस दिन पर्यावरण की बहाली का संकल्प लेना चाहिए. सभी को पर्यावरण के प्रति अति जागरूक होना चाहिए. उसे जितना कम कष्ट या नुकसान पहुंचाएंगे वह उतना शांत रहेगी. प्राकृतिक चीजों का सम्मान करना जरूरी हो गया है. कूड़ा करके प्रकृति को किसी भी प्रकार से गंदा नहीं करें. साइकिल का इस्तेमाल करें. यह प्रकृति और सेहत दोनों के लिहाज से अच्छा है. हर किसी को साल में कम से कम एक या दो बार एक पौधे जरूर लगाने चाहिए और उनकी देखरेख भी करनी चाहिए. साथ ही ये संकल्प लेना चाहिए कि वो नदी, तालाबों और पोखर को प्रदूषित नहीं करेंगे. इसके अलावा कूड़े-कचरे को कहीं भी फेंकने की जगह पर उसे कूड़ेदान में ही डालें, ताकि आप पर्यावरण की रक्षा कर पाएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here